कोरोना के संकट को ध्यान में रखते हुए फिलहाल केंद्र सरकार ने जनगणना की प्रक्रिया को फिलहाल स्थगित करने का फैसला ले लिया है। इस संबंध में स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन जारी की थी, उसी के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है।

सूत्र बताते हैं कि केंद्र सरकार ने जनगणना के तहत पहले चरण में होने वाली मकान गणना को रोकने की पूरी तैयारी कर ली है। इसी क्रम में राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी यानी एनपीआर की प्रक्रिया को रोकने का फैसला लिया गया है। यह दोनों की गणनाएं पहले 1 अप्रैल से होने वाली थी।

द हिंदू में प्रकाशित अमित बरुआ की रिपोट के मुताबिक, सरकार के दो सूत्रों ने पुष्टि की है कि जनगणना और एनपीआर के काम को फिलहाल नहीं किया जाएगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण बड़े पैमाने पर लोगों के संपर्क से मना करने की हिदायत दी है। हालांकि इस संबंध में केंद्र सरकार की ओर से आधिकारिक वक्तव्य का इंतजार है।

इस बीच ओडिशा सरकार के नक्शेकदम पर चलते हुए दिल्ली सरकार ने भी केंद्र सरकार को एक चिट्ठी लिखकर जनगणना और एनपीआर की प्रक्रिया को कम से कम एक माह के लिए रोकने की अपील की थी।

इससे पहले राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के जरिये जनगणना और एनपीआर की प्रक्रिया शुरू होनी थी। राष्ट्रपति से ही भारत में जनगणना और एनपीआर की प्रक्रिया शुरू होनी थीं, लेकिन उन्होंने कोरोना वायरस के कारण अपने सभी सावर्जनिक कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं।

द हिंदू में प्रकाशित अमित बरुआ की रिपोर्ट को यहां क्लिक (Centre all set to put off Census, NPR exercise) कर पढ़ा जा सकता है।

Please follow and like us: