मध्य प्रदेश लोकतांत्रिक अधिकार मंच और जनसंपर्क समूह ने किया सीएए—विरोधी कार्यकर्ताओं के दमन का विरोध भोपाल, 3 जून। स्थानीय शाकिर सदन में मध्य प्रदेश लोकतांत्रिक अधिकार मंच एमपीडीआरएफ की ओर से सीएए—विरोधी कार्यकर्ता और प्रतिवाद की जनतांत्रिक आवाजों के दमन के खिलाफ प्रतिरोध सभा का आयोजन किया गया। इसके अलावा सीएए आंदोलन के दौरान…

कोरोना के संकट को ध्यान में रखते हुए फिलहाल केंद्र सरकार ने जनगणना की प्रक्रिया को फिलहाल स्थगित करने का फैसला ले लिया है। इस संबंध में स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन जारी की थी, उसी के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। सूत्र बताते हैं कि केंद्र सरकार ने जनगणना के तहत पहले चरण में…

  विकास त्रिवेदी दिल्ली दंगों पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ”हिंसा की अंतिम सूचना 25 फरवरी को रात 11 बजे मिली थी. 36 घंटे में दंगे समाप्त हो गए.” जितने स्थानीय लोग और पत्रकार हिंसा प्रभावित इलाके में थे, वो ईमानदारी से बता सकते हैं कि ये साफ़ झूठ है. 26 फरवरी की…

Nov 20: Amit says all India NRC coming Dec 11: CAA passed Dec 15: Attack on Jamia Dec 15: Shaheen Bagh Dec 18: Protestors murdered in UP Dec 19: Protests across India Dec 21: Malaysia condemns CAA Dec 22: Modi says NRC not discussed Dec 24: Amit says NRC, NPR not linked Jan 1: Bhopal…

भोपाल के ऐशबाग में CAA-NPR-NRC विरोधी विशाल जनसभा 1 अप्रैल तक सभी मोहल्ले, वार्ड में NPR बहिष्कार समिति बनाने का संकल्प भोपाल, 9 मार्च। भोपाल के ऐशबाग इलाके में सोमवार को CAA-NPR-NRC विरोधी विशाल जनसभा का आयोजन किया गया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि एनपीआर के साथ जनगणना भी मंजूर नहीं की जाएगी। केंद्र…

मनोज कुलकर्णी Delhi 2020 एक कौम, जिस से एक लम्बे वक्त तक मैं भी बेवजह नफरत करता, खौफ खाता रहा हूं। जन्मना जो देश, प्रदेश, धर्म और जाति मिली, उस पर मेरा वश कहां था? जिन मोहल्लों में मैं रहा, जिन पाठशालाओं में मुझे दाखिला दिलवाया जाता रहा, वहां उस कौम के नाम लेवा तक…

 सचिन श्रीवास्तव दिल्ली की हिंसा कब शुरू हुई? विभिन्न मीडिया रिपोर्ट कह रही हैं कि दिल्ली की यह हिंसा 23 फरवरी की रात शुरू हुई। असल में तो यह सच नहीं है। इसकी पृष्ठभूमि में कपिल मिश्रा का बयान है, तो 20 फरवरी का वारिश पठान का बयान भी है। सीएए विरोधी प्रदर्शनों पर कटाक्षों…

सचिन श्रीवास्तव, भोपाल होने को तो कुछ भी हो सकता है। देश भी जल सकता था, लेकिन दूसरे पक्ष ने जिस तरह शांति का परिचय दिया है, उसका ऐहतराम किया जाना चाहिए। अफवाह और सच के बीच यह तथ्य तो साबित हो ही चुका था कि कट्टर हिंदुत्व के पैरोकार, मोदी समर्थक और भाजपाई दिमागों…